आप भी सदस्य बनें-

Thursday 2 July 2009

खरीद लो भैयाजी सायकिल..!

जैसी की इस सरकार से उम्मीदें थी, ठीक वैसा ही हुआ..बढ़ा दिये पेट्रोल-डीजल के दाम! मेरी समझ से तो इसमे सरकार का कोई दोष नहीं है, सरकार हमलोगों ने ही तो चुनी है..अब ओखल में सिर डाला है तो मूसल से क्या डरना ? इसीलिए तो कह रहा हूँ...भैयाजी बेच दो, कार-मोटरसायकिल...खरीद लो ओनली सायकिल...कार्टून देखिये, कमेंट्स दीजिये !
------------------------------------------------------

------------------------------------------------------

9 comments:

  1. अरे सर हम तो एक घोडा खरीदने चले गए...घोडा देखते ही कहता है ..नहीं नहीं ..हम गधों को नहीं बैठाते हैं..सो अब सोच रहे हैं एक थो सायकल ही ......

    ReplyDelete
  2. bahut sahi suresh ji........
    main bhee soch raha hu bysycle le hi loo...
    salah k liye dhanywad......

    ek bar fir behtareen cartoon.....

    ReplyDelete
  3. bahut badhiya suresh ji
    hamne to cycle pahle hi kharid li .

    ReplyDelete
  4. रास्ता भी क्या है!!

    ReplyDelete
  5. मुझे आपका ब्लॉग बहुत अच्छा लगा! मुझे कार्टून बहुत पसंद है!
    मेरे ब्लोगों पर आपका स्वागत है!
    वाह वाह क्या बात है! मज़ा आ गया! बिल्कुल सही फ़रमाया आपने! मैंने तो अभी तक कुछ भी नहीं ख़रीदा पर साइकिल लेने कि सोच रही हूँ!

    ReplyDelete
  6. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  7. महंगाई इतनी है कि उसके लिये भी लोन लेना पड़ेगा

    ReplyDelete

आपकी एक टिपण्णी हमारा मनोबल बढ़ाएगी !