आप भी सदस्य बनें-

Sunday, 28 June, 2009

महिलाओं से निवेदन, इस ब्लॉग को न देखें..

आज के दौर में मजाल है..फिल्में बगैर चुंबन दृश्य के बने, हर निर्माता-निर्देशक स्पेशल रूप से ऐसे दृश्य फिल्मों में रखवाते हैं, आज का दर्शक भी रस लेकर ऐसे दृश्यों का मजा लेता है, पर उन हीरोइनों पर क्या गुजरती है जो ऐसे दृश्य करने को मजबूर हैं..कभी सोचा है आपने? आइये देखते हैं कार्टून के माध्यम से हीरोइनों की वेदना .... आप अपने कमेंट्स जरूर भेजना,
--------------------------------------------------------------

-------------------------------------------------------------

14 comments:

  1. ओठों को लेमिनेट कराने की सुविधा का उपयोग करके ऐसी वारदातों से बचा जा सकता है।

    ReplyDelete
  2. बड़ी मेहनत पड़ गई..

    ReplyDelete
  3. un sabhi mitron ka mai aabhari hoon jinhone mere cartoon ko pasand kiya aur apne comments dekar mera marg darsan kiya....aabhar..

    ReplyDelete
  4. jordaar !चलिए असली वाला तो सही सलामत होगा

    ReplyDelete
  5. बाप रे...
    बेचारगी देखिए बन्दी की.....कई दिनों तक तो बेचारी बोलने लायक भी नहीं रहेगी

    ReplyDelete
  6. chalo ok to ho gaya....
    varna kya hall hota...

    ReplyDelete

आपकी एक टिपण्णी हमारा मनोबल बढ़ाएगी !